Hindi English Sunday, 21 July 2024
BREAKING
युवाओं ने बस सर्विस की मांग को लेकर परिवहन विभाग के निदेशक को सौंपा ज्ञापन आमिर का जीवन पूरे विश्व के लिए प्रेरणा हैः बंडारू दत्तात्रेय पंजाब की 100 महिलाओं को कॉरपोरेट संगठनों की लीडर बनाने की कवायद - पंजाब 100 सेक्टर 42 कम्युनिटी सेंटर में फ्री मेडिकल चेकअप कैंप आयोजित चंडीगढ़ वन विभाग और टीम सॉल्यूशंस ने रन फ़ॉर फारेस्ट का किया आयोजन देश की अदालतों में महिलाओं के इंसाफ की लड़ाई लड़ेगी दिशा वूमैन वैलफेयर ट्रस्ट:हरदीप कौर पार्क हॉस्पिटल में पार्किंसनिज़्म उपचार में नवाचार डीबीएस का इस्तेमाल शुरू हंसाली रन 2024 को गुरुद्वारा सिंह शहीदां सोहाना मोहाली से पहले प्रोमो रन को मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया बुडो काई डू मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के खिलाड़ियों ने लगाए पौधे प्राचीन कला केंद्र में युवा संतूर वादक डॉ बिपुल कुमार रॉय ने प्रभावशाली संतूर वादन से खूब समां बांधा

हेल्थ

More News

मल में खून आना, वजन कम होना और सांस फूलना सारकोमा के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं: डॉ. केतन डांग

Updated on Sunday, July 07, 2024 11:18 AM IST

चंडीगढ़, 6 जुलाई, 2024: सारकोमा दुर्लभ कैंसर है जो मांसपेशियों, वसा, रेशेदार, कार्टिलेज(नर्म हड्डी), नसों और गहरी त्वचा के ऊतकों में होते हैं और यही से इसकी शुरुआत होती है।

सारकोमा और इससे संबंधित जटिलताओं के बारे में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से, हर साल जुलाई में विश्व सारकोमा महीना मनाया जाता है। इस वर्ष का विषय " लोगों में जागरूकता बढ़ाना" है।

फोर्टिस अस्पताल मोहाली के ऑन्कोलॉजी के कंसल्टेंट डॉ. केतन डांग ने एक सलाह में सारकोमा के कारणों, लक्षणों और पता लगाने के तरीकों के बारे में चर्चा की।

यह बताते हुए कि सारकोमा एक दुर्लभ घातक ट्यूमर कैंसर है जो शरीर में अन्य ऊतकों को जोड़ने वाली कोशिकाएँ में विकसित होता है, डॉ. डांग ने कहा, "हालाँकि ये कैंसर शरीर में कहीं भी विकसित हो सकते हैं, ये ज़्यादातर हाथ, पैर, छाती और पेट पर पाए जाते हैं।"

सारकोमा के लक्षणों पर चर्चा करते हुए, डॉ. डांग ने कहा, "दर्द रहित गांठ या कोई सूजन चिकित्सा हस्तक्षेप की मांग करती है। मल में रक्त, पेट में दर्द, वजन कम होना और सांस लेने में तकलीफ़ होने पर ऑन्कोलॉजिस्ट को दिखाना चाहिए। कुछ सारकोमा आस-पास की नसों और अंगों पर दबाव डाल सकते हैं, जिससे दर्द और सांस लेने में समस्या हो सकती है। बोन (हड्डी) सारकोमा हाथ या पैर, धड़ या पीठ में दर्द और/या सूजन का कारण बनता है। यह जोड़ों की हरकत को प्रभावित करता है, बिना किसी स्पष्ट कारण के बुखार और हड्डियों के फ्रैक्चर का कारण बन सकता है।"

सारकोमा के विभिन्न प्रकारों पर प्रकाश डालते हुए, डॉ. डांग ने कहा, "इनमें मुख्य रूप से सॉफ्ट-टिशू सारकोमा, सिनोवियल सारकोमा, लिपोसारकोमा, डी-डिफरेंशिएटेड लिपोसारकोमा, मैलिग्नेंट पेरीफेरल नर्व शरथ ट्यूमर, लो ग्रेड फाइब्रोमाइक्सॉइड सारकोमा, इविंग सारकोमा, ओस्टियोसारकोमा, चोंड्रोसारकोमा आदि शामिल हैं।"

डॉ. डांग ने कहा कि सारकोमा के निदान में ट्यूमर के बायोप्सी और हिस्टोपैथोलॉजिक मूल्यांकन के साथ-साथ इम्यूनोहिस्टोकेमिस्ट्री और मॉलिक्यूल टेस्टिंग शामिल हैं। उन्होंने कहा, "एक पूर्ण मूल्यांकन में आमतौर पर पीईटी-सीटी स्कैन के माध्यम से छाती, पेट और शरीर के बाकी हिस्सों की इमेजिंग शामिल होती है।"

 

उपचार प्रक्रियाओं के बारे में जानकारी देते हुए, डॉ. डांग ने कहा, "इनमें सर्जरी, रेडियोथेरेपी और कीमोथेरेपी शामिल हैं। ये मूल रूप से ट्यूमर के चरण और प्रकार पर निर्भर करते हैं। फोर्टिस अस्पताल मोहाली में, मॉलिक्यूल टेस्टिंग किया जाता है जिसके बाद सारकोमा रोगियों को लक्षित चिकित्सा और इम्यूनोथेरेपी दी जाती है। ट्यूमर बोर्ड में एक सर्जिकल ऑन्कोलॉजिस्ट, मेडिकल ऑन्कोलॉजिस्ट, रेडिएशन ऑन्कोलॉजिस्ट, रेडियोलॉजिस्ट और पैथोलॉजिस्ट शामिल हैं, जो उपचार की सर्वोत्तम विधि पर विचार-विमर्श करते हैं और रोगी के लिए उपचार रणनीतियों की सावधानीपूर्वक योजना बनाते हैं।”

Have something to say? Post your comment
पेट में दर्द, लगातार वजन कम होना और यूरिन में खून आन किडनी कैंसर के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं: डॉ. धर्मेंदर अग्रवाल

: पेट में दर्द, लगातार वजन कम होना और यूरिन में खून आन किडनी कैंसर के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं: डॉ. धर्मेंदर अग्रवाल

लगातार सिरदर्द, चक्कर आना और हाथ-पैरों में कमजोरी की गहन जांच होनी चाहिए: डॉ. हरमनदीप बराड़

: लगातार सिरदर्द, चक्कर आना और हाथ-पैरों में कमजोरी की गहन जांच होनी चाहिए: डॉ. हरमनदीप बराड़

धूप को अपनाएं: गर्मियों में विटामिन की कमी से कैसे निपटें

: धूप को अपनाएं: गर्मियों में विटामिन की कमी से कैसे निपटें

ग्रीष्मकालीन स्वास्थ्य समस्याओं पर जीत: एक सुखद, स्वस्थ मौसम के लिए उपाय

: ग्रीष्मकालीन स्वास्थ्य समस्याओं पर जीत: एक सुखद, स्वस्थ मौसम के लिए उपाय

नागालैंड में जरूरतमंद महिलाओं को हजारों सैनिटरी नैपकिन बाटेगा बफी

: नागालैंड में जरूरतमंद महिलाओं को हजारों सैनिटरी नैपकिन बाटेगा बफी

पर्यावरण के भी अनुकूल नहीं है बीफ खाना: यूनाइटेड नेशंस विशेषज्ञ

: पर्यावरण के भी अनुकूल नहीं है बीफ खाना: यूनाइटेड नेशंस विशेषज्ञ

अदरक को औषधि के रूप में भी इस्तेमाल करें

: अदरक को औषधि के रूप में भी इस्तेमाल करें

गर्मी में डाइट प्लान

: गर्मी में डाइट प्लान

बीमारियों के लिए रामबाण है काली मिर्च

: बीमारियों के लिए रामबाण है काली मिर्च

खाना खाने के बाद ना करें ऐसी गलती

: खाना खाने के बाद ना करें ऐसी गलती

X