Hindi English Thursday, 30 May 2024
BREAKING
मै सांसद बनू या ना बनू परन्तु चंडीगढ़ वासियों के हर सुख दुःख में साथ खड़ा रहूंगा, यह एक साधु का वचन है: महन्त रवि कान्त मुनि उदासी       राज कॉमिक्स “द अलायंस: प्रोजेक्ट मेटामोरफ़ोसिस" के साथ प्रतिष्ठित सुपरहीरो “सुपर कमांडो ध्रुव" और “डोगा" को जीवंत कर रहा है। मतगणना के लिए किए जा रहे आवश्यक प्रबंध - डा. यश गर्ग अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए दूसरे दिन 105 पीटीआई व डीपीई को दिया प्रशिक्षण अग्निवीर भर्ती के काॅमन प्रवेश परीक्षा का परिणाम घोषित पवित्र चार धाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों के स्वास्थ्य की देखभाल लिए बनाया ई-स्वास्थ्य धाम ऐप फूली के ट्रेलर ने इंडस्ट्री में तहलका मचा दिया: अविनाश ध्यानी की बहुप्रतीक्षित फिल्म सिनेमाघरों में होगी रिलीज 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए 100 पीटीआई व डीपीआई को दिया योग प्रशिक्षण मतगणना के लिए सभी आवश्यक प्रबंध पूरे - डा. यश गर्ग मासिक धर्म स्वच्छता दिवस पर स्वास्थ्य केन्द्रों में हुए कार्यक्रम

हिमाचल प्रदेश

More News

बौद्धिक संपदा अधिकार जीआई टैगिंग द्वारा हिमाचल प्रदेश के अधिक पारंपरिक उत्पादों की रक्षा कर सकते हैं: अतीश कुमार सिंह

Updated on Saturday, March 23, 2024 06:33 AM IST

पीएचडीसीसीआई द्वारा राष्ट्रीय स्तर का आईपी यात्रा कार्यक्रम आयोजित किया गया

शिमला - पीएचडीसीसीआई द्वारा राष्ट्रीय स्तर का दो दिवसीय आईपी यात्रा कार्यक्रम आज से शिमला में शुरू हो गई। इस अवसर पर, एमएसएमई मंत्रालय, भारत सरकार के संयुक्त सचिव अतीश कुमार सिंह, भारत सरकार ने हिमाचल प्रदेश राज्य में इस कार्यक्रम के आयोजन में पीएचडी चैंबर के प्रयासों की सराहना की। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में बहुत सारे नवीन विचार हैं और यहां आईपीआर का दायरा बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने आगे उल्लेख किया कि हिमाचल में अधिक जीआई टैग वाले उत्पादों की पहचान करने की क्षमता है और उन्होंने व्यापारिक समुदाय को राज्य के अधिक पारंपरिक उत्पादों की पहचान करने और उन्हें जीआई के तहत पंजीकृत कराने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने एमएसएमई मंत्रालय, सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी।

 


कार्यक्रम में भाग लेते हुए, ए.के गौतम, आईईडीएस, सहायक निदेशक, ग्रेड-I/कार्यालय प्रमुख, एमएसएमई-डीएफओ, सोलन, एमएसएमई मंत्रालय, सरकार। भारत सरकार ने एमएसएमई की वृद्धि और विकास को बढ़ावा देने में एमएसएमई-डीएफओ की भूमिका का उल्लेख किया, जिसके लिए सरकार हिमाचल प्रदेश के एमएसएमई को आवश्यक सहायता और सहायता प्रदान कर रही है। उन्होंने आईपी (एमएसएमई-एससीआईपी) कार्यक्रम के व्यावसायीकरण के लिए एमएसएमई समर्थन, एमएसएमई इनोवेटिव योजना सहित मंत्रालय की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण सुविधा केंद्र (टीटीएफसी) और मंत्रालय की विभिन्न प्रतिपूर्ति योजनाओं के बारे में भी बताया। उन्होंने एमएसएमई से आगे आने और पीएचडीसीसीआई आईपीएफसी केंद्रों से लाभ उठाने का आग्रह किया।


एनएसआईसी के पूर्व सीएमडी और पीएचडीसीसीआई के सलाहकार डॉ. एचपी कुमार ने अपने थीम संबोधन में घरेलू और निर्यात बाजारों में एमएसएमई क्षेत्र को प्रतिस्पर्धी ताकत प्रदान करने के लिए आईपीआर को बढ़ावा देने की आवश्यकता के बारे में उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि बौद्धिक संपदा किसी भी अन्य भौतिक संपत्ति की तुलना में सबसे मूल्यवान संपत्ति है और आईपी संसाधन जुटाने और मौद्रिक और आर्थिक लाभ के लिए उपयोगी हो सकता है। उन्होंने सभी एमएसएमई को आईपी हेल्पडेस्क शिविर में भाग लेने के लिए भी आमंत्रित किया, जो अगले दिन एक-से-एक फाइलिंग सहायता प्राप्त करने और किसी भी आईपी मुद्दों के संबंध में उनके प्रश्नों का समाधान करने के लिए निर्धारित है।


डी पी गोयल, सह-अध्यक्ष, एमएसएमई समिति, पीएचडीसीसीआई ने अपनी उद्योग टिप्पणियों में उद्यमियों के बीच नवाचारों की भूमिका का उल्लेख किया। उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि नवाचार किसी भी उद्योग के अस्तित्व और सफलता की कुंजी है, उन्होंने प्रतिस्पर्धा में आगे रहने के लिए इन नवाचारों को संबंधित आईपीआर में दाखिल करके संरक्षित करने की आवश्यकता बताई।

 


पीएचडीसीसीआई के हिमाचल प्रदेश राज्य चैप्टर के अध्यक्ष नरेंद्र भारद्वाज ने अपने संबोधन में एमएसएमई और स्टार्ट-अप के लिए बौद्धिक संपदा के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने मंत्रालय की विभिन्न योजनाओं के बारे में एमएसएमई के बीच जागरूकता पैदा करने में पीएचडीसीसीआई की भूमिका का उल्लेख किया और कहा कि पूरी दुनिया की नजर भारत पर है क्योंकि यह सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है।

पीएचडीसीसीआई के हिमाचल प्रदेश राज्य चैप्टर के सह-अध्यक्ष विशाल चौहान ने अपनी समापन टिप्पणी में उल्लेख किया कि देश में आईपी पारिस्थितिकी तंत्र को और अधिक मजबूत बनाने के लिए शिक्षाविदों और उद्योग सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने सभी गणमान्य व्यक्तियों और प्रतिभागियों को अपना बहुमूल्य समय निकालकर इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम में शामिल होने के लिए धन्यवाद दिया।


गौरव गोगिया, प्रिंसिपल एसोसिएट, यूनाइटेड और यूनाइटेड ने अपने संबोधन में आईपी में चार आवश्यक घटकों पर प्रकाश डाला यानी आईपी की पहचान करना, आईपी की सुरक्षा, आईपी का व्यावसायीकरण और बौद्धिक संपदा अधिकारों पर विचार व्यक्त किये।


सुश्री कंचन जुत्शी, निदेशक, पीएचडीसीसीआई ने उद्घाटन सत्र का संचालन किया और इस आईपी यात्रा कार्यक्रम में विचार-विमर्श किए जाने वाले विभिन्न मुद्दों और देश के आर्थिक विकास के लिए बौद्धिक संपदा के महत्व का उल्लेख और प्रकाश डाला।

उद्घाटन सत्र के बाद तकनीकी सत्र हुए, जिसमें विशेषज्ञ श्री शैलेश वत्सगोत्री, सहायक निदेशक, एमएसएमई, डीएफओ, सोलन, एमएसएमई मंत्रालय, भारत सरकार शामिल हुए। भारत के वसंत चंद्रा, प्रमुख अभियोजन, यूनाइटेड और यूनाइटेड और आकाश चौधरी, एसोसिएट, यूनाइटेड और यूनाइटेड ने आईपीआर के अवलोकन पर विस्तार से प्रकाश डाला और आईपी उल्लंघन के कारण उठाए गए कुछ हालिया मुद्दों, आईपी पंजीकरण और इसकी प्रक्रियाओं, पेटेंट से संबंधित विषयों पर प्रकाश डाला।.


पीएचडीसीसीआई के रेजिडेंट डायरेक्टर अनिल सौंखला ने भी समापन टिप्पणी और धन्यवाद ज्ञापन देकर तकनीकी सत्र को संबोधित किया।

Have something to say? Post your comment
मतदाता जागरूकता के लिए विस्तृत नेटवर्क का उठाएं लाभ: मनीष गर्ग

: मतदाता जागरूकता के लिए विस्तृत नेटवर्क का उठाएं लाभ: मनीष गर्ग

भ्रष्टाचार को रोकने के लिए बनाएंगे और सख्त कानून: मुख्यमंत्री

: भ्रष्टाचार को रोकने के लिए बनाएंगे और सख्त कानून: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने चम्बा विधानसभा क्षेत्र को 275 करोड़ रुपये के विकासात्मक कार्यों की सौगात दी

: मुख्यमंत्री ने चम्बा विधानसभा क्षेत्र को 275 करोड़ रुपये के विकासात्मक कार्यों की सौगात दी

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मशाल जुलूस में शामिल हुए मुख्यमंत्री

: प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मशाल जुलूस में शामिल हुए मुख्यमंत्री

इंदौरा विधानसभा क्षेत्र के लिए 143 करोड़ रुपये की 14 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए

: इंदौरा विधानसभा क्षेत्र के लिए 143 करोड़ रुपये की 14 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए

मुख्यमंत्री ने भटियात विधानसभा क्षेत्र में 75 करोड़ रुपये की 9 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए

: मुख्यमंत्री ने भटियात विधानसभा क्षेत्र में 75 करोड़ रुपये की 9 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए

मंत्रिमण्डल की बैठक में महिलाओं को इंदिरा गांधी प्यारी बहना सुख सम्मान निधि के रूप में 1500 रुपये प्रतिमाह देने को मंजूरी

: मंत्रिमण्डल की बैठक में महिलाओं को इंदिरा गांधी प्यारी बहना सुख सम्मान निधि के रूप में 1500 रुपये प्रतिमाह देने को मंजूरी

सरकारी क्षेत्र में की जा रहीं 20 हजार भर्तियां: मुख्यमंत्री

: सरकारी क्षेत्र में की जा रहीं 20 हजार भर्तियां: मुख्यमंत्री

 हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक की 22 नई शाखाओं का मुख्यमंत्री ने किया शुभारम्भ

: हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक की 22 नई शाखाओं का मुख्यमंत्री ने किया शुभारम्भ

मुख्यमंत्री ने कांगड़ा जिला को दी 784 करोड़ रुपये की 33 विकास परियोजनाओं की सौगात

: मुख्यमंत्री ने कांगड़ा जिला को दी 784 करोड़ रुपये की 33 विकास परियोजनाओं की सौगात

X