Hindi English Sunday, 21 July 2024
BREAKING
युवाओं ने बस सर्विस की मांग को लेकर परिवहन विभाग के निदेशक को सौंपा ज्ञापन आमिर का जीवन पूरे विश्व के लिए प्रेरणा हैः बंडारू दत्तात्रेय पंजाब की 100 महिलाओं को कॉरपोरेट संगठनों की लीडर बनाने की कवायद - पंजाब 100 सेक्टर 42 कम्युनिटी सेंटर में फ्री मेडिकल चेकअप कैंप आयोजित चंडीगढ़ वन विभाग और टीम सॉल्यूशंस ने रन फ़ॉर फारेस्ट का किया आयोजन देश की अदालतों में महिलाओं के इंसाफ की लड़ाई लड़ेगी दिशा वूमैन वैलफेयर ट्रस्ट:हरदीप कौर पार्क हॉस्पिटल में पार्किंसनिज़्म उपचार में नवाचार डीबीएस का इस्तेमाल शुरू हंसाली रन 2024 को गुरुद्वारा सिंह शहीदां सोहाना मोहाली से पहले प्रोमो रन को मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया बुडो काई डू मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के खिलाड़ियों ने लगाए पौधे प्राचीन कला केंद्र में युवा संतूर वादक डॉ बिपुल कुमार रॉय ने प्रभावशाली संतूर वादन से खूब समां बांधा

धर्म – संस्कृति

More News

संत निरंकारी सत्संग भवन में हुआ निरंकारी बाल समागम का आयोजन

Updated on Thursday, June 06, 2024 20:05 PM IST

चंडीगढ़ - सन्त निरंकारी सत्संग भवन सैक्टर 15 चंडीगढ़ में निरंकारी बाल समागम आयोजन किया गया । इस बाल समागम की अध्यक्षता करते हुए  ओ पी निरंकारी जी ज़ोनल इंचार्ज चंडीगढ़ ने कहा कि दिखने में तो बच्चे ही थे पर जो संदेश इन्होने दिया वह बहुत बड़ा था। बच्चों ने कई प्रकार की कलाओं का सहारा लेते हुए यह बताने का प्रयास किया कि मर्यादा व अनुशासन में रहकर जीवन व्यतित करना चाहिए । उन्होंने निरंकारी सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज की शिक्षाओं का जिकर करते हुए बताया कि मानुष जन्म बहुत ही अनमोल है हमें व्यर्थ नहीं गंवाना चाहिए बल्कि सत्संग-सेवा-सिमरन में लगाना चाहिए।

 

उन्होने बच्चों द्वारा पेश की गई हर आईटम की सराहना की और कहा बच्चों के मन निर्मल होते हैं यदि बचपन से ही इनमें जात-पात, भाषा, रहन-सहन आदि के आधार पर किसी से वैर-नफरत का भाव पैदा न होने दिया जाए तो बड़े होकर ये बच्चे समाज व देश के लिए वरदान साबित हो सकते हैं और फिर देश में अनेकता होते हुए भी एकता स्थापित करना सम्भव हो सकेगा। इन नन्हे मुन्ने बच्चों से यह आशा की जाती है कि वे सोशल मीडिया की और कम ध्यान दें तथा अपनी पड़ाई के विषयों एवं खेल कूद पर विशेष ध्यान देंगे। अपने माता पिता एवं अध्यापकों का सत्कार करें तथा उनकी आज्ञा का पालन करें। आज के बच्चे देश का भविष्य हैं अतः परम पिता परमात्मा से अरदास है कि वह इन बच्चों को सदबुद्धि प्रदान करें ताकि ये अपने माता पिता एवं देश का नाम रोशन कर सकें।

Have something to say? Post your comment
X