Monday, 25 October, 2021
ब्रेकिंग न्यूज़ :
देसी ऐप Koo पर ट्रेंड हुआ '#MentalHealthZarooriHai', बॉलीवुड सितारों से लेकर नेताओं तक ने की अपीलभारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने मारी कू ऐप पर एंट्रीKoo App और मेट्रो हॉस्पिटल्स ने शुरू की है दिल की बीमारियों के लिए जागरुकता फैलाने की मुहिमवेस्टर्न डिजिटल ने मैक और पीसी यूज़र्स के लिए पॉकेट साईज़ की डब्लूडी एलीमेंट्स एसई एक्सटर्नल एसएसडी प्रस्तुत कीबच्चे समाज को प्रेरित करने में महत्वपूर्ण भूमिका का करते हैं निर्वाहन - अश्विनी चौबेअखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस Koo (कू) में शामिल हुआदी ब्रियू एस्टेट ने मोहाली में खोला अपना सातवां आउटलेटकोरोना की रोकथाम के लिये भाप लेना सबसे ज्यादा कारगर - कत्यालकोरोना, करूणा और बुद्ध के 6 आर्य सत्य - डा.बासुदेव प्रसादपुराने कंटेंट को फिर से कैसे डाले और उस से पैसे कैसे कमाएँ
एंटरटेनमेंट न्यूज़

FWICE को उनके फर्जी और 440 करोड़ के झूठे दावों पर IMPPA ने जारी किया स्टेटमेंट

October 08, 2021 02:56 PM

इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (IMPPA) ने FWICE (Federation of Western India Cine Employees) के खिलाफ एक बयान जारी कर इस बात का खंडन किया कि मेकर्स पर कुछ वर्कर्स का 440 करोड़ रुपये बकाया है। इस बयान में यह भी कहा गया कि उनपर लगाएं गए सभी आरोप फर्जी और झूठे हैं।

 

IMPPA के प्रेसिडेंट टीपी अग्रवाल ने FWICE के प्रेसिडेंट बीएन तिवारी को एक बयान जारी किया, जिसमें एक लीडिंग न्यूजपेपर की प्रेस कटिंग भी लगाईं गई है, जिसके द्वारा हफ्ता वसूली की न्यूज़ चलाई गई थी। यह पूरा मामला तब सामने आया जब आर्ट डायरेक्टर राजेश साप्ते ने FWICE के ऑडिटर राकेश मौर्य पर आरोप लगाते हुए आत्महत्या कर ली।

 

IMPPA द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है, "हम इसके साथ मिड-डे की एक प्रेस-कटिंग भी लगा रहे हैं जिसमें अन्य कुछ दावों के अलावा आपने यह भी दावा किया है कि आप जल्द ही एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले है ताकि रिकॉर्ड दिखाया जा सके कि वर्कर्स का लगभग 440 करोड़ रुपये बकाया है। हम आपको बता दें कि आपका यह दावा पूरी तरह से फर्जी और झूठा है, बिलकुल आपके पहले के फर्जी दावों की तरह है जिसमें 5 लाख वर्कर्स और 34 सहयोगी हैं ऐसा कहा गया था, इस मामले में हम पहले ही साबित कर चुके हैं कि आपके पास 50,000 से कम वर्कर्स और 22 सहयोगी हैं क्योंकि बाकी फर्जी सहयोगी हैं जैसा कि आपने अपने पहले के लेटर में इसे माना था।"

 

“जहां तक मेकर्स के बारे में आपका यह कहना है कि आपके लोगों का 440 करोड़ रुपये बकाया है। अब तक के सबसे बड़े और सबसे पुराने एसोसिएशन होने के नाते, हम आपके लोगों के किसी भी दावे से अवगत नहीं हैं क्योंकि आखिरी इनफार्मेशन 12 जून 2020 का था, जिसमें ऐसी कोई भी बात नहीं है, न तो इससे पहले की तारीख में और न ही उसके बाद की तारीख में। हमने आपके किसी भी वर्कर्स से अपने प्रोड्यूसर्स के खिलाफ इस दावे के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है और दूसरे प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन के साथ भी हमारी इस बारे में बात हुई, लेकिन उन्हें भी इस बात की जानकारी नहीं है कि आप किस वर्कर्स के पेमेंट के बारे में बात कर रहे हैं।

 

"इन बातों को मद्देनजर रखते हुए हम आपसे अनुरोध करते हैं कि कृपया मेकर्स के बारे में झूठ फैलाना बंद करें और साथ ही फिल्म इंडस्ट्री और FWICE के बारे में झूठे दावे ना करें।" 

 

Related Articles
Have something to say? Post your comment
और एंटरटेनमेंट न्यूज़
ताजा न्यूज़
एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री और दुबई का संयोजन होगा मैजिकल- बिजनेस लीडर मधु शेखर भंडारी सत्यम श्रीवास्तव की बुक "द विल्डर ऑफ द त्रिशूल" को अपनी फिल्म के लिए एडाप्ट कर सकते हैं फिल्ममेकर नितेश तिवारी विशाल पांडे और किंजल दवे का गरबा सॉन्ग हुआ वायरल, लोगों को पसंद आ रहीं गुजराती बीट देसी ऐप Koo पर ट्रेंड हुआ '#MentalHealthZarooriHai', बॉलीवुड सितारों से लेकर नेताओं तक ने की अपील FWICE को उनके फर्जी और 440 करोड़ के झूठे दावों पर IMPPA ने जारी किया स्टेटमेंट किंजल दवे और विशाल पांडेय के साथ मीडिया फिल्म्सक्राफ्ट का गरबा एंथम 'गुजराती बीट' हुआ रिलीज़ हर साल एक अवार्ड जीतने का इरादा है - गौरांग दोषी भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने मारी कू ऐप पर एंट्री मैंने गुलज़ार साहब और अन्य फिल्मकारों से बहुत कुछ सीखा है - मृणालिनी पाटिल Koo App और मेट्रो हॉस्पिटल्स ने शुरू की है दिल की बीमारियों के लिए जागरुकता फैलाने की मुहिम नागालैंड में जरूरतमंद महिलाओं को हजारों सैनिटरी नैपकिन बाटेगा बफी नवरात्रि गाने में किंजल और विशाल की केमिस्ट्री बहुत ख़ास है ', निर्देशक नवरोज़ प्रासला
Copyright © 2016 AbhitakNews.com, A Venture of Lakshya Enterprises. All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech