Friday, 10 July, 2020
ब्रेकिंग न्यूज़ :
डॉ. दीपक ज्योति ने पंजाब राज्य बाल अधिकार सुरक्षा आयोग के मैंबर के तौर पर पद संभालासुशांत मर के भी अमर हो गया - कुमार सानूमुख्यमंत्री ने पालमपुर तथा कांगड़ा के भाजपा महिला मोर्चा की वर्चुअल रैलियों को संबोधित कियापंजाब सरकार द्वारा राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए अध्यापकों को ऑनलाइन अप्लाई करने के निर्देशशहीद गुरबिन्दर सिंह को समर्पित गाँव तोलावाल से जखेपल तक बनाई जायेगी नई सडक़ - विजय सिंगलापंजाब की मुख्य सचिव द्वारा डिप्टी कमिश्नरों को राज्य में कोविड की मृत्युदर में कमी लाने की हिदायतमुख्यमंत्री द्वारा यूनिवर्सिटियों, कॉलेजों की अंतिम परीक्षाएं 15 जुलाई तक स्थगितएमएसएमई के लिए ट्रेड फेयर व एक्जीबीशन ई-मार्किट प्लेटफार्म की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है - दुष्यंतमीडिया में कैसे रखें महिलाओं की समस्याएं जानेंगी हरियाणा की बेटियांलॉकडाउन में हुई क्षति को डिजिटल मार्केटिंग से पूरा करे उद्यमी - मित्तल
हरियाणा न्यूज़

हरियाणा ने केंद्र सरकार से मांगा आर्थिक पैकेज

April 28, 2020 11:15 AM

कोरोना से गड़बड़ाई वित्तीय स्थिति सुधारने के लिए हरियाणा सरकार ने केंद्र सरकार से आर्थिक पैकेज मांगा है। सीएम मनोहर लाल ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई बैठक में यह मांग रखी। कोरोना के कारण मार्च व अप्रैल महीने में 5000 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। अगर महामारी जल्द खत्म नहीं हुई और हालात सामान्य होने में समय लगा तो वित्तीय नुकसान और बढ़ेगा।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद यह बात कही। सीएम के साथ डिप्टी सीएम व गृह मंत्री अनिल विज भी बैठक में शामिल रहे। दुष्यंत ने कहा कि सभी राज्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने-अपने राज्य की मांग के अनुरूप वित्तीय सहायता की मांग की है। प्रधानमंत्री महामारी की रोकथाम के लिए 1.70 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा पहले ही कर चुके हैं। उम्मीद है कि हरियाणा की मांग को केंद्र सरकार पूरा करेगी।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने स्पष्ट किया है कि जिन किसानों को खरीद केंद्रों बिक्री के लिए सरसों व गेहूं लाने के एसएमएस भेजे गए थे और वे किन्हीं कारणों से मंडियों में नहीं पहुंच सके, उन्हें दोबारा एसएमएस भेजे जाएंगे। सप्ताह में खरीद का एक दिन ऐसे छूटे हुए किसानों के लिए ही रखने का निर्णय लिया गया है।

किसान सरसों व गेहूं कितनी ही मात्रा में बिक्री के लिए ला सकते हैं। इस पर किसी भी प्रकार की कोई सीमा नहीं है। रविवार को पानीपत मंडी में एक किसान 1609 क्विंटल गेहूं लेकर आया था और उसका पूरा गेहूं खरीदा गया। पहले दिन खरीदी गई सरसों का भुगतान भी किसानों के बैंक खातों में जमा कर दिया गया है। हरियाणा ने केंद्र को किसानों को वित्तीय प्रोत्साहन देने के लिए पहले ही लिखा है। एक पत्र पंजाब सरकार भी लिख चुकी है। केंद्र के निर्णय अनुसार आगे बढ़ेंगे।

Have something to say? Post your comment
और हरियाणा न्यूज़
ताजा न्यूज़
एक मल्टी-टास्किंग फैशन टेक्नोलॉजिस्ट है आइशा थराड्रा उर्वशी रौतेला ने एनआर ग्रुप का मास्क और सेनिटाइजर लॉन्च किया बॉलीवुड गायक थॉमसन एंड्रयूज का नया म्यूजिक ट्रेवल शो रिलीज़ माइरा मल्टीमीडिया एंटरप्राइज ने अनसंग कोविड -19 हीरोज को सम्मान देकर जीता सभी का दिल ‘कठिनाइयाँ जिंदगी में छुपी हुई दुआएं होती हैं ‘, एक्टर और एक्टिंग कोच अशोक कुमार बेनीवाल , SPATTP के पायनियर विकास खन्ना और इंडिया गेट ने किया 17 मिलियन मील्स को सेलिब्रेट #FeedIndia के साथ 'शिवाजी महाराज अमेरिका परिवार' (SMAP) ने विश्व स्तर पर छत्रपति शिवाजी महाराज की 346वीं राज्याभिषेक एनिवर्सरी मनाई डॉ. दीपक ज्योति ने पंजाब राज्य बाल अधिकार सुरक्षा आयोग के मैंबर के तौर पर पद संभाला सुशांत मर के भी अमर हो गया - कुमार सानू मुख्यमंत्री ने पालमपुर तथा कांगड़ा के भाजपा महिला मोर्चा की वर्चुअल रैलियों को संबोधित किया पंजाब सरकार द्वारा राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए अध्यापकों को ऑनलाइन अप्लाई करने के निर्देश शहीद गुरबिन्दर सिंह को समर्पित गाँव तोलावाल से जखेपल तक बनाई जायेगी नई सडक़ - विजय सिंगला
Copyright © 2016 AbhitakNews.com, A Venture of Lakshya Enterprises. All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech